Breaking News

लखनऊ की ‘छोटी सी गुजारिश’ पेरिस के कास फिल्म फेस्टिवल में पहुंची

लखनऊ: राजधानी में बनी लघु फिल्म ‘छोटी सी गुजारिश’ ने मई में पेरिस में होने वाले कास फिल्म फेस्टिवल में भी अपनी जगह बना ली है। आज की पीढ़ी में हमारे संस्कारों-मानवीय संवेदनाओं की झलक दिखाती लखनऊ में बनी इस लघु फिल्म के निर्माता-निर्देशक प्रज्ञेश कुमार  ने राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 24 बार आधिकारिक चयन प्राप्त करते हुए अबतक बेस्ट शार्ट फिल्म, बेस्ट स्टोरी, बेस्ट एक्टर-एक्टेऊस, बेस्ट इंडियन शार्टफिल्म कैटेगरी सहित राइटिंग, डायरेक्शन, सिनेमैटोग्रॉफी व एक्टिंग कैटेगरी में 13 अवार्ड हासिल किए हैं।

लखनऊ और आसपास शूट हुई फिल्म में इंदर कुमार, शिशिर शर्मा और स्मिता जयकर जैसे नामी फिल्मी कलाकारों के साथ स्थानीय कलाकार हैं। सिनेमेटोग्राफी सन् 2012 में राष्ट्र्रीय पुरस्कार प्राप्त फिल्म ‘फिल्मिस्तान’ फेम शुभ्राशु दास की है।

निर्माता-निर्देशक प्रज्ञेश कुमार सिंह ने बताया कि पहले माना जाता था कि 25 साल में पीढ़ी बदल जाती है, मगर ग्लोबलाइजेशन के दौर में जेनरेशन चेंज का अंतराल काफी कम हो गया है। अब तो कोई पंद्रह साल का मॉडर्न बच्चा अपने नॉलेज, इंटरेस्ट और एटीट्यूड के साथ सामने खड़ा होकर हमें एहसास करा देता है कि पीढ़ी बदल गई है। छोटी सी गुजारिश तेजी से बदलती इसी पीढ़ी की कहानी है। नई पीढ़ी उन मूल्यों को तवज्जो नहीं देती जो समाज के लिए बुनियादी और अहम हैं। उसे सिर्फ सक्सेज, कॅरियर और अपनी परेशानियों से मतलब है। ऐसे में मा-बाप या हमारे बुजुर्ग खुद को कहा पाते हैं? वो नई पीढ़ी से तालमेल मिलाएंगे या फिर अपनी सोच संस्कारों के साथ आगे बढ़ेंगे? ये फिल्म का अहम मुद्दा है।

loading...
loading...