Breaking News

अन्तर्राष्ट्रीय

FBI के पूर्व प्रमुख बोले- अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए ‘नैतिक रूप’ से योग्य नहीं ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ एफबीआई के पूर्व प्रमुख जेम्स कॉमे ने जमकर भड़ास निकाली है। रविवार को एबीसी को दिये इंटरव्यू में जेम्स ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के राष्ट्रपति पद के लिए ट्रंप नैतिक रूप से योग्य नहीं हैं।   ...

Read More »

सीरिया में रसायनिक हथियारों की जांच के लिए अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन की नई मुहिम

सीरिया में कथित रासायनिक हथियार वाले इलाकों को निशाना बनाकर सैन्य हमले करने के कुछ ही घंटे बाद अमेरिका, फ्रांस एवं ब्रिटेन ने सीरिया में हुए रसायनिक हमलों की जांच के लिये रविवार (15 अप्रैल) को संयुक्त राष्ट्र में नई ...

Read More »

अमेरिका में बर्फीले तूफान ने मचाई भारी तबाही, 400 उड़ानें रद्द, 1 बच्ची समेत 3 को गंवानी पड़ी जान

मध्य अमेरिका में गल्फ कोस्ट से लेकर ग्रेट लेक्स तक बने तूफान के एक तंत्र ने भारी तबाही मचाई है. तूफान की वजह से भारी बर्फबारी, तेज हवाएं और गरज-चमक के साथ बारिश के चलते उड़ानों को रद्द करना पड़ा, ...

Read More »

पाकिस्तान ने बाबर मिसाइल का किया सफल परिक्षण

पाकिस्तान ने शनिवार को स्वदेश निर्मित बाबर क्रूज मिसाइल के उन्नत संस्करण का सफल परीक्षण किया. इस मिसाइल की मारक क्षमता 700 किलोमीटर तक है और यह पारंपरिक और गैरपारंपरिक हथियारों को ले जाने में सक्षम है. प्रधानमंत्री शाहिद खाकान ...

Read More »

रुसी चैनल ने अपने देशवासियों को दी तीसरे विश्वयुद्ध की चेतावनी

रूस के टीवी चैनल ‘रोसिया-24’ ने तीसरे विश्‍वयुद्ध की आशंका जताई है. टीवी चैनल ने अपने दर्शकों से युद्ध के लिए बंकरों में खाने पीने का सामन रखने की बात कही. चैनल ने लोगों को पर्याप्‍त मात्रा में आयोडीन का ...

Read More »

रिवेंज पॉर्न केस में 42 करोड़ रुपये का हर्जाना

कैलिफॉर्निया: एक शख्स पर महिला की न्यूड तस्वीरें, विडियो इंटरनेट पर पोस्ट करने का आरोप था जिसका उसे जो खामियाजा भुगतना पड़ा वो उसने कभी नहीं सोचा होगा. अमेरिका के कैलिफॉर्निया में एक फेडरल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने रिवेंज पॉर्न केस में एक शख्स से पीड़ित महिला को 42 करोड़ रुपये का हर्जाना चुकाने का आदेश दिया है. महिला के वकील के मुताबिक, रिवेंज पॉर्न मामलों में यह अब तक का दूसरा सबसे बड़ा हर्जाना है. एक अज्ञात महिला ने डेविड इलमा नाम के शख्स पर सिविल कोर्ट में केस फाइल किया था. साल 2013 में महिला और उसके बॉयफ्रेंड का ब्रेकअप हुआ था. इसके बाद से ही शख्स ने महिला की अश्लील तस्वीरें और विडियो पॉर्नोग्रफी वेबसाइट्स पर डालने शुरू कर दिए. कोर्ट के दस्तावेजों के मुताबिक, शख्स ने महिला को धमकी दी कि वह उसकी जिंदगी इतनी बर्बाद कर देगा कि वह आत्महत्या कर लेगी. कोर्ट ने अपने आदेश में 4 लाख 50 हजार डॉलर कॉपीराइट उल्लंघन, 30 लाख डॉलर गंभीर मानसिक तनाव और 3 लाख अन्य क्षतियों की पूर्ति के लिए चुकाने का आदेश दिया. इस पूरे मामले में दोषी की तरफ से कोई बयान नहीं आया है. बहरहाल आरोपी सदमे में है और इतने बड़े हर्जाने का फैसला चर्चा का विषय बना हुआ है.

 एक शख्स पर महिला की न्यूड तस्वीरें, विडियो इंटरनेट पर पोस्ट करने का आरोप था जिसका उसे जो खामियाजा भुगतना पड़ा वो उसने कभी नहीं सोचा होगा. अमेरिका के कैलिफॉर्निया में एक फेडरल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने रिवेंज पॉर्न केस में ...

Read More »

इस मुद्दे पर एक मत है भारत-चीन !

दिल्ली: दुनिया की कुल तेल खपत का 17 फीसदी भारत-चीन दवारा खर्च किया जाता है. तेल खपत का ये आंकड़ा दोनों देशों को एक साथ खड़ा करने का काम कर सकता है. संभावना है कि पश्चिम एशिया के तेल उत्पादक देशों से कच्चा तेल खरीदने के मामले में दोनों देश एक साथ आकर सौदा तय करे. खबर के अनुसार, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद प्रधान और चाइना नेशनल पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (CNPC) के चेयरमैन वांग यिलिन तथा अन्य चीनी अधिकारियों से बातचीत में यह निर्णय किया गया है. 16वें इंटरनेशनल एनर्जी फोरम के मंत्रिस्तरीय राउंड के अवसर पर सभी लोग जुटे थे और उसी दौरान यह बातचीत हुई. धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, 'उपभोक्ता होने के नाते हमारे कुछ साझा हित हैं. अपनी सार्थक बातचीत में हम कारोबार से कारोबार तक (B2B) साझेदारी बनाने पर सहमत हुए और हमें उम्मीद है कि निकट भविष्य में खरीदार भी कीमतें तय करेंगे.' प्रधान की इस राय का चीन के राष्ट्रीय ऊर्जा प्रशासन (NEA) के उप प्रशासक ली फैनरोंग ने भी समर्थन किया. इस बारे में आगे कैसे काम हो, इसके लिए भारत और चीन की सार्वजनिक कंपनियों के अधिकारी बातचीत करेंगे. गौरतलब है कि इसके पहले साल 2005 में तत्कालीन पेट्रोलियम मंत्री मणिशंकर अय्यर ने यह प्रस्ताव दिया था कि भारत-चीन को एक साझा मोर्चा बनाकर मोलभाव करना चाहिए ताकि वाजिब कीमत पर कच्चा तेल मिल सके. इसमें यह भी प्रस्ताव था कि साल 2006 में इसके लिए दोनों देशों के बीच एमओयू होगा, लेकिन द्विपक्षीय बाचतीत की तमाम जटिलताओं की वजह से ऐसा संभव नहीं हो पाया.

दिल्ली: दुनिया की कुल तेल खपत का 17 फीसदी भारत-चीन दवारा खर्च किया जाता है. तेल खपत का ये आंकड़ा दोनों देशों को एक साथ खड़ा करने का काम कर सकता है. संभावना है कि  पश्चिम एशिया के तेल उत्पादक देशों ...

Read More »

ट्रंप में मानवीय गुण नहीं, सिर्फ घमंड हैं- कोमी

एफबीआई के पूर्व चीफ जेम्स कोमी को ट्रंप ने मई 2017 में उनके पद से बर्खास्त कर दिया. कोमी ने अपनी नई किताब ‘ए हायर लॉयल्टी : ट्रूथ, लाई एंड लीडरशिप’ में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. कोमी को . बर्खास्त किए जाने के 11 महीने बाद कोमी ने एक किताब लिखी है जिसके कुछ पन्ने लीक हो गए हैं. यह पहली बार है जब किसी ने पद पर आसीन राष्ट्रपति की इतनी गंभीर आलोचना की है. अपनी किताब में कोमी ने लिखा है कि ट्रंप एक झूठे, निहायती बेइमान इंसान हैं. ट्रंप में कोई मानवीय गुण नहीं हैं और वह केवल अपने घमंड की सुनते हैं. कोमी ने यह भी लिखा कि ट्रंप को अपने काम की कोई जानकारी नहीं है. कोमी ने लिखा है कि डोनाल्ड ट्रंप उन्हें एक माफिया बॉस की याद दिलाते हैं जो अपने मातहतों से पूरी वफादारी की उम्मीद करता है लेकिन वह खुद कानून का पालन नहीं करता. इस किताब का विमोचन मंगलवार को किया जाएगा. एबीसी न्यूज को दिए एक इंटरव्यू में कोमी ने कहा कि ट्रंप ने उन्हें आदेश दिया था कि मॉस्को होटल में एक प्रॉस्टिट्यूट से उनकी (ट्रंप की) मुलाकात के आरोपों को वह (कोमी) झूठा साबित कर दें. कोमी ने कहा कि ट्रंप को लगता है कि एफबीआई उनकी पर्सनल इंवेस्टिगेशन सर्विस के लिए है. वाशिंगटन पोस्ट की खबर के मुताबिक कोमी ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति एक अलग ही दुनिया में रहते हैं, जिसमें उन्होंने बाकियों को भी लाने की कोशिश की. कोमी ने कहा है कि ट्रंप को सही और गलत में फर्क नहीं पता है. समाचार एजेंसी एएफपी की एक खबर के मुताबिक इस बीच ट्रंप ने आज कोमी पर आरोप लगाया कि उन्होंने गोपनीय सूचना लीक की. उन्होंने कहा कि शपथ लेकर अमेरिकी कांग्रेस से झूठ बोलने को लेकर कोमी पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए. ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘‘जेम्स कोमी एक साबित ‘लीकर एंड लायर’ हैं.’’. गौरतलब है की ट्रम्पइन दिनों पोर्ट एक्ट्रेस से विवादों के चलते भी सुर्खियों में है.

एफबीआई के पूर्व चीफ जेम्स कोमी को ट्रंप ने मई 2017 में उनके पद से बर्खास्त कर दिया. कोमी ने अपनी नई किताब ‘ए हायर लॉयल्टी : ट्रूथ, लाई एंड लीडरशिप’ में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर कई गंभीर आरोप लगाए ...

Read More »

अमरिका ने किया सीरिया पर मिसाइल से हमला

चेतावनी के बाद अमरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सीरिया में सैन्य कार्रवाई का आदेश जारी कर दिया है. ये सैन्य कार्रवाई उन जगहों पर किए जाएंगे जहां पिछले हफ्ते केमिकल अटैक हुए थे. डोनल्ड ट्रंप के मुताबिक इस सैन्य कार्रवाई में ब्रिटेन और फ्रांस भी अमेरिका का साथ दे रहा है. देश को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा "फ्रांस और ब्रिटेन के साथ मिलकर एक संयुक्त अभियान शुरू कर दिया गया है.'' सीरियाई राजधानी दमास्कस के पास से विस्फोटों की खबरें मिल रही है. इस बीच संयुक्त राष्ट्र के लिए रूसी दूत वसिली नेबेन्ज़िया ने चेतावनी दी है कि अमेरिका के सीरिया पर हमले करने से रूस और अमेरीका के बीच युद्ध के हालात बन सकते हैं. उन्होंने कहा कि वो किसी भी तरह की संभावना से इनकार नहीं करते. बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, सीरिया के पूर्वी गूटा में हुए हमले में घायल हुए मरीज़ों में केमिकल अटैक के लक्षण पाए गए हैं. डब्ल्यूएचओ ने सीरिया के डूमा इलाके में बिना किसी अड़चन के प्रवेश दिए जाने की मांग की है. डब्ल्यूएचओ के अधिकारी इलाके में मौजूद अपने सहयोगियों से मिली इस रिपोर्ट की पुष्टि करना चाहते हैं, जिसमें कहा गया है कि 500 से अधिक लोगों में केमिकल अटैक के लक्षण पाए गए हैं. ट्रैम्प ने इसी सप्ताह चेतावनी जारी करते हुए हमले को लेकर रूस को आगाह किया था.

चेतावनी के बाद अमरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सीरिया में सैन्य कार्रवाई का आदेश जारी कर दिया है. ये सैन्य कार्रवाई उन जगहों पर किए जाएंगे जहां पिछले हफ्ते केमिकल अटैक हुए थे. डोनल्ड ट्रंप के मुताबिक इस सैन्य ...

Read More »

यरूशलम के स्वामित्व को लेकर फिर उपजा विवाद

यरूशलेम: इसराइलियों और फ़लस्तीनियों के पवित्र शहर यरूशलम को लेकर विवाद बहुत पुराना और ग़हरा है. यरूशलम इसराइल-अरब तनाव में सबसे विवादित मुद्दा है. ये शहर इस्लाम, यहूदी और ईसाई धर्मों में बेहद अहम स्थान रखता है. पैगंबर इब्राहीम को अपने इतिहास से जोड़ने वाले ये तीनों ही धर्म यरूशलम को अपना पवित्र स्थान मानते हैं. यही वजह है कि सदियों से मुसलमानों, यहूदियों और ईसाइयों के दिल में इस शहर का नाम बसता रहा है. हिब्रू भाषा में येरूशलायीम और अरबी में अल-कुद्स के नाम से जाना जाने वाला ये शहर दुनिया के सबसे प्राचीन शहरों में से एक है. यरूशलेम पर अपना-अपना स्वामित्व सिद्ध करने की लड़ाई भी बहुत पुरानी है, इसी कड़ी में अब जेरुसलम और फिलिस्तीन के ग्रैंड मुफ़्ती शेख मोहम्मद हुसैन ने एक निर्णय जारी किया है की जिसमे जेरूसलम में किसी भी प्रकार की संपत्ति की बिक्री पर रोक लगा दी है. उन्होंने कहा की "जेरूसलम और अल-अक्सा मस्जिद इस्लाम की देन है, जिन्हें बेचा नहीं जा सकता, यह हमें विरासत में मिला है और किसी को भी यह छोड़ने का अधिकार नहीं है. जेरूसलम और अल -अक्सा मस्जिद के कुछ भागों को अलग करना दुश्मनों के लिए मक्का और मदीना को त्याग करने जैसा है, मेम्बर ऑफ़ कमिटी फॉर द डिफेंस ऑफ़ लैंड एंड रियल एस्टेट , सिल्वान फाखरी अबू दिअद ने कहा की "इजराइल ने गैर-क़ानूनी तरीकों और धोखा बाजी करके क्षेत्र में जमीन के एक बड़े हिस्से में अपना कब्जा कर लिया है और जिसमे कुछ हिस्सा जमीन का बेच भी दिया है." आपको बता दें कि इजरायल की सरकार ने सिलवान के लगभग 13 प्रतिशत भाग पर कब्ज़ा कर लिया है, जिसमें 5,640 डूनम्स (5.6 वर्ग किलोमीटर) का क्षेत्र है, जो ज्यादातर अनुपस्थित संपत्ति कानून या विनियोग का उपयोग करते हैं.

  इसराइलियों और फ़लस्तीनियों के पवित्र शहर यरूशलम को लेकर विवाद बहुत पुराना और ग़हरा है. यरूशलम इसराइल-अरब तनाव में सबसे विवादित मुद्दा है. ये शहर इस्लाम, यहूदी और ईसाई धर्मों में बेहद अहम स्थान रखता है. पैगंबर इब्राहीम को अपने ...

Read More »