Breaking News

2019 लोकसभा चुनाव की रणनीति तय करने आज से मेरठ में जुटेंगे भाजपा के दिग्गज

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश कार्यसमिति की दो दिवसीय बैठक शनिवार से मेरठ में शुरू हो रही है। सुभारति विश्वविद्यालय मेरठ में प्रसिद्ध स्वतंत्रता संग्राम सेनानी माता दीन बाल्मिकी के नाम पर बने परिसर में होने वाली प्रदेश कार्यसमिति की बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्र नाथ पाण्डेय करेंगें।  उद्घाटन शनिवार को केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह तो समापन 12 अगस्त को राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह करेंगे। कार्यसमिति की बैठक को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी संबोधित करेंगे।
पहले पदाधिकारियों की बैठक
कार्यसमिति की बैठक शुरू होने से पहले शनिवार को पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक होगी। जिसमें प्रदेश कार्यसमिति का एजेण्डा, कार्यसमिति में प्रस्तुत होने वाले प्रस्ताव व आगामी कार्ययोजना पर चर्चा होगी। शनिवार को बैठक के तीन सत्र होंगे। इसमें केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा कार्यसमिति की बैठक का शुभारम्भ, राजनीतिक प्रस्ताव रखा जाना और तीसरा सत्र सदस्यों द्वारा की जाने वाली चर्चा का होगा। प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के दूसरे दिन का एजेण्डा भी शनिवार को होने वाली बैठक में तय होगा।
अमित शाह 11 को करेंगे संबोधित
दूसरे दिन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह दोपहर तक मेरठ पहुंच जाएंगे। प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्र नाथ पाण्डेय संगठनात्मक गतिविधियों की रिपोर्ट पेश करेंगे। इसके अलावा लोकसभा चुनावों तक चलने वाले अभियानों और कार्यक्रमों का ब्योरा पेश करेंगे। इसी दिन 73 से अधिक सीटों को जीतने और वोट प्रतिशत 51 प्रतिशत तक बढ़ाने के लक्ष्य को लेकर व्यूहरचना भी तैयार की जाएगी। बैठक का समापन होने से पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का उद्बोधन होगा। बैठक खत्म होने के बाद श्री शाह प्रदेश के सांसदों और विधायकों को केन्द्र व राज्य सरकार की उपलब्धियों को अपने-अपने क्षेत्रों में ले जाने व जनता के बीच जाकर पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने का एजेन्डा देंगे।
गठबंधन से पार पाने को होगा मंथन
सपा-बसपा व अन्य विपक्षी दलों के गठबंधन को देखते हुए कार्यसमिति की बैठक में लोकसभा चुनावों के मद्देनज़र 73 सीटों से अधिक सीटें पाने के लक्ष्य के लिए व्यूहरचना तैयार की जाएगी। पश्चिम यूपी में दलितों की बहुतायत होने के कारण इस क्षेत्र के गढ़ मेरठ में यह बैठक होना अपने आप में अहमियत रखता है। गोरखपुर, फूलपुर, कैराना लोकसभा व नूरपुर (बिजनौर) विधानसभा उपचुनाव में सपा-बसपा व रालोद के गठजोड़ से लगातार हार से सकपकाई भाजपा अब विपक्षी दलों से पार पाने की जुगत में लगी है।
यह है भाजपा की रणनीति
पार्टी अब सपा के यादव समाज और बसपा के जाटव समाज के वोट बैंक से इतर गैर यादव पिछड़ों और गैर जाटव दलितों को साथ लेने की जुगत में अभी से जुट गई है। इसी के तहत अभी हाल में प्रजापति, राजभर व नाई समाज के सम्मेलन किए गए । गैर जाटव दलित समाज के लोगों को सरकारी उच्च पदों पर बिठाने या फिर राज्यसभा सदस्य व विधान परिषद सदस्य बनाया गया। फिर उनके समाज के लोगों से उन्हें सम्मानित कराने की भाजपा ने मुहिम चलाई। अब कार्यसमिति में लोकसभा चुनावों तक चलने वाले आगे के कार्यक्रमों और अभियानों की रूपरेखा तैयार की जाएगी।
683 प्रतिनिधि होंगे सम्मलित
प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में प्रदेश प्रभारी, सहप्रभारी, प्रदेश पदाधिकारी, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य, विशेष आंमत्रित सदस्य, स्थाई आंमत्रित सदस्य, पदेन सदस्य, क्षेत्रीय अध्यक्ष, क्षेत्रीय संगठन मंत्री, जिलाध्यक्ष, जिलाप्रभारी, नगर निगमों के महापौर सहित कुल 683 प्रतिनिधि सम्मिलित होंगे। प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में सम्मिलित होने के लिए पार्टी के पदाधिकारियों व प्रमुख नेताओं का मेरठ पहुंचना शुरू हो गया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्र नाथ पाण्डेय, प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया, पंकज सिंह, सलिल विश्नोई, विद्यासागर सोनकर, गोविन्द नारायण शुक्ल व उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर सहित कई अन्य पदाधिकारी शुक्रवार को मेरठ पहुंच गए।
प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल व पश्चिम क्षेत्र के प्रभारी प्रदेश विजय बहादुर पाठक पहले ही मेरठ पहुंच चुके है। प्रदेश महामंत्री (संगठन) कार्यसमिति की बैठक की तैयारियों को लेकर अलग-अलग बैंठके कर तैयारियों की समीक्षा के साथ-साथ आवश्यक दिशा-निर्देश भी दे रहे हैं।

loading...
loading...