Breaking News

बसपा से बात किए बिना मध्य प्रदेश में कांग्रेस से गठबंधन नहीं: अखिलेश

सपा अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को स्पष्ट किया कि बसपा से बात किए बिना मध्यप्रदेश में कांग्रेस से गठबंधन संभव नहीं है। कांग्रेस को तय करना है कि गठबंधन होगा या नहीं।

अखिलेश ने मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के अंतरराष्ट्रीय पर्यटक स्थल खजुराहो में प्रेसवार्ता में यह बात कही। उन्होंने बताया कि उनकी पार्टी का मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (गोंगपा) से गठबंधन हो गया है। बसपा से गठबंधन की बात चल रही है, जो जल्दी पूरी हो जाएगी। गोंगपा द्वारा 230 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा के बारे में बताया गया कि यह अफवाह है, दोनों दलों में गठबंधन है।

गठबंधन बाद ही सीटें तय होंगी
सपा मध्यप्रदेश में कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी, इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि गठबंधन होने के बाद ही यह तय होगा कि कौन पार्टी कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी। सपा ने छह उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। शेष की घोषणा भी जल्द होगी। अखिलेश ने किा सपा के प्रदेश अध्यक्ष गौरी यादव सिलवानी सीट से चुनाव लड़ेंगे। पूर्व अध्यक्ष अशोक यादव ग्वालियर ग्रामीण सीट से सपा के उम्मीदवार होंगे।

भाजपा ने घोला जहर
अखिलेश ने आरोप लगाया कि भाजपा ने हमेशा समाज में जहर घोलने का काम किया है। भाजपा को हटा दो तो समाज में प्यार व मोहब्बत अपने आप पैदा हो जाएगी। उन्होंने कहा कि आत्महत्या के मामले में देश में मध्यप्रदेश पहले नंबर पर है। भाजपा सरकार में किसान, गरीब परेशान हैं और महिलाएं भी सुरक्षित नहीं हैं।

मप्र में यूपी से भी ज्यादा स्लॉटर हाउस
यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा गाय की बात करती है, लेकिन उत्तर प्रदेश से भी ज्यादा स्लॉटर हाउस मध्य प्रदेश में हैं। मध्यप्रदेश विकास के मामले में पीछे छूट गया है। यहां व्यापम जैसा बड़ा घोटाला हुआ, तो वहीं खनिज नीति पर भी सवाल उठ रहे हैं।

loading...
loading...