Breaking News

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतें न घटी तो देशभर में प्रदर्शन : मायावती

बसपा प्रमुख मायावती ने राष्ट्रीय अधिवेशन शुरू होने से पहले पत्रकारों से बातचीत में कहा कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों के चलते पेट्रोल-डीजल की कीमतें ऐतिहासिक स्तर पर पहुंच गई हैं। इनकी कीमतें न घटी तो बसपा देशभर में प्रदर्शन करेगी।
भाजपा सरकार की उल्टी गिनती शुरू
मायावती ने कहा कि भाजपा सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। प्रधानमंत्री की गलत नीतियों और तानाशाही रवैये के चलते एनडीए के एक-एक दल धीरे-धीरे उससे अलग हो रहे हैं। इसका सुबूत कुछ राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में देखा जा सकता है। केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र में चार वर्ष के कार्यकाल में गरीब, मजदूर, किसान, सवा सौ करोड़ जनता को प्रभावित करने वाली महंगाई मिली है।
हर काम को ऐतिहासिक बताती है
बसपा प्रमुख ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार अपने सभी कामों को ऐतिहासिक करार देती है। शायद यही कारण है कि महंगाई भी ऐतिहासिक स्तर पर पहुंच गई है। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतें भी ऐतिहासिक स्तर पर पहुंच गई हैं। इनकी कीमतें कम न हुई तो बसपा देशभर में सड़कों पर उतरेगी। केंद्र सरकार को विपक्षी आवाज दबाने से पहले बढ़ती हुई इस महंगाई पर रोक लगानी चाहिए।
दलित-आदिवासियों पर अत्याचार बढ़ा
मायावती ने कहा कि केंद्र की सरकार सभी मोर्चे पर विफल साबित हुई है। दलित व आदिवासियों पर पिछले कुछ सालों में अत्याचार बढ़ा है। इसके खिलाफ आवाज उठाने वालों को झूठे मुकदमें में फंसाया जा रहा है। इसके लिए सरकारी मशीनरी का बेजा इस्तेमाल किया जा रहा है। केंद्र की सरकार ने सिर्फ धन्नासेठों को फायदा पहुंचाया है। नोटबंदी और जीएसटी से सिर्फ बड़ों को फायदा हुआ है। भाजपा को गरीबों से कोई लेनादेना नहीं है। जनता से किया गया एक भी वादा केंद्र की सरकार से पूरा नहीं किया। मोदी सरकार जनता से सफेद झूठ बोलती है। जनता को सिर्फ धोखा देने का काम किया गया।
भाजपा का चाल-चरित्र चेहरा उजागर हुआ
बसपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा राज में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। देश में बेटियों के साथ होने वाला अत्याचार इसका साफ उदाहरण है। कठुआ और उन्नाव रेप कांड को दबाने का काम किया गया। भाजपा जनता के सामने पूरी तरह से बेनकाब को चुकी है। मोदी सरकार सभी मोर्चों पर नाकाम विफल साबित हुई है। जनता चिंतित की बैंकों में उसका पैसा सुरक्षित है अथवा नहीं। इसीलिए केंद्र सरकार को चार साल पूरे होने पर जश्न मनाने का कोई अधिकार नहीं है।
पत्रकार कहीं नाराज न हो जाएं
मायावती ने मीडिया पर चुटकी लेते हुए कहा कि“वैसे तो पार्टी का आज राष्ट्रीय अधिवेशन हैं, लेकिन मैने सोंचा इससे पहले पत्रकारों से बात कर लिया जाए कहीं वह नाराज न हो जाएं।’ उन्होंने यह भी कहा कि मीडिया वालों को भाजपा की खबरें दिखाने में अधिक मजा आता है। यह बात अलग है कि 15 मिनट की बातचीत के बाद मायावती ने प्रेस वालों से कहा कि ‘अब आप लोग जाएं आप से बातचीत हो चुकी।’

loading...
loading...