Breaking News

पद्मभूषण से सम्मानित डॉक्टर पर 10 करोड़ की ब्लैकमनी व्हाइट करने का आरोप

download-5सीबीआई ने नोटबंदी के बाद काले धन की हेराफेरी के सिलसिले में पुराने नोटों के ट्रांसपोर्ट को लेकर पद्म भूषण से सम्मानित जाने-माने डॉक्टर पर केस दर्ज किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जांच एजेंसी डॉ. सुरेश आडवाणी पर 10 करोड़ रुपए के पुराने नोट ट्रांसपोर्ट करने के आरोप की जांच कर रही है।
– डॉ. आडवाणी देश के बड़े कैंसर विशेषज्ञों में गिने जाते हैं। उन्हें 2002 में पद्मश्री और 2012 में पद्मभूषण अवाॅर्ड से नवाजा जा चुका है।
– देश में पहली बार बॉन मैरो ट्रांसप्लांट करने का श्रेय भी उन्हीं को दिया जाता है। फिलहाल वे औरंगाबाद के एक अस्पताल से जुड़े हुए हैं।
– उनके अलावा जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है उनकी पहचान योगेश बी शिरोय, धरम राज थगिले, कृष, गजानंद सोमनाथ और बीएम शाह के तौर पर हुई है।
– सीबीआई के एक अधिकारी ने बताया कि कि इन्होंने गैरकानूनी तरीके से पैसे को इधर-उधर किया। योगेश को छोड़कर बाकी 4 आरोपी वैद्यनाथ को-ऑपरेटिव अर्बन बैंक लिमिटेड के अधिकारी हैं।
– ये लोग एक कार में 500 और 1000 के बंद हो चुके नोटों को लेकर जा रहे थे। तभी इन्हें पुलिस ने पकड़ा।
उधर, बैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सीबीआई के इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि जांच एजेंसी ने गलत जानकारी के आधार पर कार्रवाई की है। सीबीआई ने इन लोगों के पास से जो 10 करोड़ रुपए जब्त किए वे उस 25 करोड़ रुपए का हिस्‍सा थे जि‍न्हें बैंक की घाटकोपर ब्रांच में जमा कराया जाना था।
 
 
 
loading...
loading...