Breaking News

‘न्यूटन’ में साहित्यिक चोरी का कोई संकेत नहीं: मार्को मुलर

फिल्म ‘सीक्रेट बैले’ के निर्माता मार्को मुलर मानते हैं कि राजकुमार राव की फिल्म ‘न्यूटन’ में किसी भी प्रकार की साहित्यिक चोरी का कोई संकेत नहीं है। दावे किए जा रहा था कि यह फिल्म 2001 की ईरानी फिल्म ‘सीक्रेट बैले’ से प्रेरित है। फिल्मकार अनुराग कश्यप ने ‘न्यूटन’ देखने के बाद सोमवार को एक फेसबुक पोस्ट के जरिए मुलर के विचार को साझा किया।'न्यूटन' में साहित्यिक चोरी का कोई संकेत नहीं: मार्को मुलर

उन्होंने लिखा, “यह एक बहुत सुंदर फिल्म है और निश्चित रूप से इसका कोई अंश ‘सीक्रेट बैलट’ से प्रेरित नहीं है (भले ही दोनों की मूल अवधारणा समान हो) और फिर मैंने उनसे पूछा कि क्या मैं उनकी प्रतिक्रिया सोशल मीडिया पर साझा कर सकता हूं? उन्होंने जवाब दिया, “हां आप कर सकते हैं, इस फिल्म में किसी प्रकार की साहित्यिक चोरी का कोई संकेत तक नहीं है।”

उन्होंने मुलर से साथ अपनी चर्चा का स्क्रीनशॉट भी साझा किया।

रविवार को कश्यप ने फिल्म का बचाव करते हुए ट्वीट किया, “‘न्यूटन’ ईरानी फिल्म ‘सीक्रेट बैले’ की उतनी ही कॉपी है जितनी ‘द एवेंजर्स’ ‘वतन के रखवाले’ की।

फिल्म के पक्ष में खड़े होते हुए कश्यप ने कहा, “‘न्यूटन’ बर्लिन फिल्म महोत्सव में पुरस्कार जीत चुकी है और मैं आपको विश्वास दिला सकता हूं कि वे निरीक्षक एक वर्ष में उससे ज्यादा फिल्में देख लेते हैं, जितनी हम अपने पूरे जीवनकाल में देखते हैं।

‘न्यूटन’ के निर्देशक अमित.वी. मासुरकर इस विवाद के बारे में पहले ही स्पष्ट रूप से कह चुके हैं, “यह कहानी मेरे दिल से निकली है। मुझे ‘सिक्रेट बैले’ के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।”

इस बीच, टीम की अपेक्षाओं को पूरा करते हुए, ‘न्यूटन’ दर्शकों को सिनेमाघरों में खींच रही है।

loading...
loading...