Breaking News

नोएडा-ग्रेनो में रात भर खंगाले गए आम्रपाली के दस्तावेज, दो डायरेक्टर को नोएडा लाई पुलिस

आम्रपाली ग्रुप के प्रमोटर अनिल शर्मा और दो निदेशकों शिवप्रिया व अजय कुमार को बुधवार शाम को पुलिस नोएडा लेकर आ गई। नोएडा पुलिस की टीम अनिल शर्मा को सबसे पहले सेक्टर-62 से लेकर पहुंची। यहां आम्रपाली ग्रुप के कई दफ्तर हैं। इसके बाद नोएडा के अन्य कार्यालयों व ग्रेटर नोएडा ले गई। रात भर नोएडा व ग्रेटर नोएडा स्थित आम्रपाली के कार्यालयों में दस्तावेज खंगाले गए। बृहस्पतिवार को नोएडा पुलिस तीनों को सुप्रीम कोर्ट में पेश करेगी।

एसपी सिटी सुधा सिंह ने बताया कि नोएडा पुलिस ने नोएडा के सेक्टर-45 स्थित सफायर (फेज-1 व 2), सेक्टर-50 स्थित हार्टबीट सिटी, सेक्टर-120 स्थित ईडन पार्क, जोडिएक, सेक्टर-119 प्लैटिनम और सेक्टर-76 स्थित सिलिकॉन और प्रिंसले शामिल हैं। वहीं ग्रेटर नोएडा के लेजर वैली, ड्रीम वैली, स्मार्ट सिटी, सेंचुरियन पार्क प्रोजेक्ट भी शामिल हैं।
आम्रपाली ग्रुप को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर नोएडा पुलिस ने कई टीमें बनाई हैं। इसकी मॉनिटरिंग एसएसपी खुद कर रहे हैं। इस टीम में एसपी सिटी, सीओ जेवर, सीओ बिसरख, सीओ द्वितीय नोएडा व दो इंस्पेक्टरों को रखा गया है। नोएडा पुलिस की टीम अलर्ट है और आम्रपाली के दस्तावेज जब्त करने में जुटी है।

मंगलवार को 15 मिनट के लिए लाए गए थे नोएडा
दिल्ली के तिलक नगर थाने से तीनों को मंगलवार देर रात भी नोएडा लाया गया था। करीब 15 मिनट तक तीनों की निशानदेही पर पुलिस ने आधे दर्जन प्रोजेक्टों के कागजात खंगाले थे। इस दौरान पुलिस को कई दस्तावेज मिले। पुलिस इन दस्तावेज को सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त फॉरेंसिक ऑडिटर को सौंपेगी।

नोएडा में एक दर्जन से अधिक मुकदमे हैं दर्ज
नोएडा में बिसरख, थाना सेक्टर-58, 49 व 39 में आम्रपाली के खिलाफ दो दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। आम्रपाली के खिलाफ अकेले बिसरख थाना क्षेत्र में 2000 हजार खरीदारों की तरफ से 13 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। इन मुकदमों के बाद भी कोई बड़ी कार्रवाई नहीं होने पर खरीदारों ने सुप्रीम कोर्ट दरवाजा खटखटाया था जिसके बाद मंगलवार को यह फैसला आया।

loading...
loading...