Breaking News

नॉनवेज के शौकीन लोग बरसात के मौसम में भूलकर भी न खाएं मछली, ये 5 कारण है बड़ी वजह

बारिश के मौसम में अगर आप भी मछली और चावल खाने का मन बना रहे हैं तो एक बार फिर सोच लें। कहीं जुबान का ये टेस्ट सेहत पर भारी न पड़ जाए। नॉनवेज खाने के शौकीन लोगों को मछली खाना बेहद पसंद होता है। बता दें, मछली में काफी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड और प्रोटीन मौजूद होता है। बावजूद इसके कई फायदों के मॉनसून में मछली खाना काफी खतरनाक साबित हो सकता है। आइए बताते हैं कि इस सीजन में आपको मछली क्यों नहीं खानी चाहिए।

मछलियों के प्रजनन का मौसम-
ये मौसम मछली और अन्य समुद्री जीवों के लिए प्रजनन का मौसम होता है। अंडों वाली मछली खाने से पेट में इंफेक्शन और फूड पॉयजनिंग होने का खतरा बढ़ जाता है।

गंदा पानी-
बारिश के दिनों में जल प्रदूषण की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में मछलियों पर गंदगी जमा हो जाती है। जो पानी से धोने पर भी नहीं हटती। गंदी मछली खाने से टाईफाइड, पीलिया और डायरिया जैसी भयानक बीमारियां हो सकती हैं।

मार्केट में नहीं मिलती फ्रेश मछली-
इस दौरान मछुआरे मछली नहीं पकड़ते हैं क्योंकि पानी का बहाव बहुत ज्यादा होता है। ऐसे में मार्केट में फ्रेश मछली मिलना मुश्किल होता है। ज्यादातर पहले से पैक या स्टोर की हुई मछलियां ही मिलती हैं। बता दें कि दस दिन से ज्यादा स्टोर की हुई मछली खराब हो सकती है। इसे खाने से इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है।

प्रिजर्वेटिव का इस्तेमाल-
मछली को बैक्टीरिया और यीस्ट से बचाने के लिए सल्फाटेस और पोलीफोस्पाटेस जैसे प्रिजर्वेटिव का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसी मछली खाने के बाद आपको सांस लेने में कठिनाई और हृदय रोग जैसी बीमारी हो सकती हैं।

loading...
loading...