Breaking News

नेताओं का स्टिंग करने के लिए अपहृत दिल्ली की महिला को एमपी पुलिस ने बचाया

शहडोल पुलिस ने बुधवार को एक 27 वर्षीय युवती को बचाया है जिसे कथित तौर पर दिल्ली से अपहृत कर राजनेताओं को हनीट्रैप में फंसाकर उनके अश्लील वीडियो बनाने और फिर ब्लैकमेल करने के लिए मध्य प्रदेश लाया गया था।

पुलिस के मुताबिक, महिला से अपहरणकर्ता ने बताया था कि उसके निशाने पर ऐसे नेता हैं जिन्हें आनेवाले विधानसभा चुनावों में टिकट दिया जा सकता था।

अमलई इंस्पेक्टर विजय सिंह पाटले ने कहा- “महिला ने शहडोल (भोपाल से 592 किलोमीटर पूरब) के एक ब्यूटी पार्लर से वहां पर काम करनेवाली एक कर्मी का फोन लेकर बुधवार को 100 नंबर पर डायल किया। जब पुलिस ने उसे वहां से बचाया उसके बाद उसने बताया कि उसे चेचई, अन्नुपुर (भोपाल से 656 किलोमीटर पूरब) का रहनेवाला प्रभाकर द्विवेदी बंदूक की नोक पर उसका करीब डेढ़ महीने पहले अपहरण कर लिया था।”

पाटले ने बताया- “द्विवेदी ने उसे चेचई में बेहद करीब निगाहों के बीच रखा था लेकिन वह बुधवार को किसी तरह एक ब्यूटी पार्लर गई और वहां से बुधवार को पुलिस को सूचना दी।” पाटले ने कहा कि पुलिस ने उस महिला के आरोपों की जांच की और यह पाया कि महिला के अपहरण की रिपोर्ट जून महीने में नई दिल्ली के ज्योतिनगर पुलिस थाने में लिखवाई गई थी।

शहडोल के सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस (एसपी) कुमार सौरभ ने बताया- “महिला ने यह आरोप लगाया कि महिला नेताओं का स्टिंग ऑपरेशन नहीं करना चाहती थी, लेकिन द्विवेदी ने उसे वापस नहीं जाने दे रहा था।” शहडोल और अन्नुपुर पुलिस अब इस मामले की गहराई से तफ्तीश कर रही है और अभियुक्त को पकड़ने की कोशिश में लगी है।

अन्नुपुर के एसपी तिलक राज ने बताया- “द्विवेदी की आपराधिक पृष्ठभूमि है। उसके खिलाफ चेचई पुलिस थाने में दो फर्जीवाड़े का केस दर्ज है। हमारी जानकारी के मुताबिक, उसके पिता की सरकारी नौकरी उसी के चलते चली गई।” पुलिस ने महिला के दिल्ली स्थित परिवारवालों से संपर्क किया है।

loading...
loading...