दिल्ली-NCR में आज भी हो सकती है बारिश

दिल्ली-एनसीआर में धूल भरी आंधी और बारिश से लोगों को तेज गर्मी से राहत मिली है। इससे मंगलवार को दिल्ली के तापमान में 10 डिग्री तक गिरावट दर्ज की गई। पश्चिमी विक्षोभ के कारण मंगलवार तड़के दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में धूल भरी आंधी चली। साथ ही हल्की बूंदाबांदी भी हुई। इसके कारण राजधानी का मौसम सोमवार की तुलना में बदल गया।

दिन के समय दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में घने बादल छाए रहे। इससे चिलचिलाती धूप से राहत मिली। सोमवार को मौसम विभाग के सफदरजंग केंद्र पर अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था। लेकिन, मंगलवार को तापमान तेजी से गिरा। मंगलवार का अधिकतम तापमान 30.7 डिग्री सेल्सियस रहा। यह सामान्य से छह डिग्री कम है। जबकि, न्यूनतम तापमान 20.5 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। यह सामान्य से एक डिग्री कम है। 

हवा भी साफ हुई :बारिश और आंधी की वजह से दिल्ली की हवा भी साफ सुथरी बनी हुई है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक मंगलवार का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 180 के अंक पर रहा। इस स्तर की हवा को मध्यम श्रेणी में रखा जाता है। मौसम विभाग का अनुमान है कि बुधवार को बादल और बारिश का दौर जारी रह सकता है। दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में बारिश की संभावना जताई गई है। इस दौरान तेज हवा चलने की उम्मीद है। मौसम विभाग का अनुमान है कि बारिश के चलते बुधवार को तापमान और नीचे आ सकता है। अधिकतम तापमान 28 और न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

उत्तर प्रदेश: वेस्‍ट यूपी में आंधी-बारिश से फसलें तबाह
पहाड़ों पर पहुंचे पश्चिमी विक्षोभ और राजस्थान के ऊपर बनी चक्रवाती हवाओं के कारण मौसम ने तेजी से करवट बदली। सोमवार देर रात वेस्ट यूपी में तेज आंधी से पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए। इससे कई जगहों पर बिजली आपूर्ति बाधित रही। गेहूं और आम की फसल को भी भारी नुकसान पहुंचा। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में में अंधड़ के साथ बारिश एवं ओलावृष्टि की आशंका जताई है। इससे अधिकतम तापमान में गिरावट होगी।

सोमवार रात से खराब हुआ मौसम मंगलवार को भी बिगड़ा रहा। दिनभर बादल छाए रहे। मेरठ में भी तेज आंधी और हल्की बारिश हुई, जिस कारण दिन के तापमान में 9.2 डिग्री और रात में दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट हुई। आंधी से वेस्ट यूपी में गेहूं की फसल को नुकसान हुआ है। 
बिजनौर और सहारनपुर में बूंदाबांदी व आंधी चलने से जहां गर्मी से राहत मिली, वहीं गेहूं की फसल बिछ गई। आम व लीची की फसल में बौर को नुकसान पहुंचा है। बागपत में करीब 10 फीसदी गेहूं की फसल को नुकसान की आशंका है। मुजफ्फरनगर में सोमवार रात आई आंधी से शहर और ग्रामीण क्षेत्र की बिजली आपूर्ति ठप हो गई। कई स्थानों पर हाईटेंशन लाइन टूटकर गिरी है। सुबह तक आंधी जारी रही।  शामली,  बुलंदशहर और हापुड़ में ठंडी हवाओं के साथ रिमझिम बारिश से मौसम सुहाना हो गया।

उत्तराखंड: अगले 36 घंटे तूफान और ओलावृष्टि का अलर्ट
उत्तराखंड में अगले 36 घंटों के भीतर ओलावृष्टि और तूफान की चेतावनी जारी की गई है। दून में अगले दो दिन बारिश होने की संभावना है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, इस दौरान तापमान में गिरावट आएगी। पश्चिमी विक्षोभ के चलते उत्तराखंड में गर्मी से बड़ी राहत मिल गई है। देहरादून, हरिद्वार और ऊधमसिंहनगर में तापमान बढ़ने लगा था, जिसमें मंगलवार को गिरावट दर्ज की गई है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, अभी दो दिन और बारिश की संभावना बनी हुई है, जिससे तापमान 30 डिग्री सेल्सियस से कम ही रहेगा। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि अगले 36 घंटों में ओलावृष्टि और तूफानी की चेतावनी जारी की गई है। इसमें अधिकतम 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवायें चल सकती हैं, जिससे नुकसान हो सकता है। वहीं, 18 अप्रैल को भी राज्य के अधिकांश इलाकों में बारिश होने की संभावना है। 

दून में बारिश ने दिलाई गर्मी से राहत
दून में मंगलवार को दिन में ठंडी हवाओं और बारिश ने मौसम को खुशनुमा बना दिया। तापमान नीचे गिरा तो दून में ही कई जगह पंखे बंद हो गए। बीते रविवार को दून का तापमान काफी रहा। दोपहर को तापमान अधिकतम 37 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। जबकि मंगलवार को अधिकतम तापमान 25.0 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 16.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। वहीं, एक दिन बाद ही भू-मध्य सागर से उठा विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान होते हुए भारत पहुंचा। पाकिस्तान से विक्षोभ राजस्थान, पंजाब और हरियाणा होते हुए उत्तराखंड पहुंचा है। इसका असर मंगलवार सुबह दस बजे से शुरू हुआ। सुबह दस बजे से दोपहर एक बजे तक देहरादून के कई इलाकों में तेज बौछारों ने मौसम में ठंडक ला दी। रुक-रुक कर बारिश होती रही, जो दोपहर तक चली। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह बताते हैं कि अगले तीन दिन मौसम सुहाना रहेगा। 

बिहार में तूफान का अलर्ट
प्रदेश के कई इलाकों में बुधवार को तूफान आ सकता है। मौसम विभाग ने  काल वैशाखी का अलर्ट जारी किया है। मंगलवार शाम से ही इसका असर दिखने लगा। कई जिलों में तेज हवा चली। 
क्या है काल वैशाखी 100 मीटर के व्यास में 60 से 70 किलोमीटर की रफ्तार में हवा पहुंचती है। दो से तीन मिनट तक बनने वाले इस तूफान की चपेट में जो भी आता है, वह पूरी तरह ध्वस्त हो जाता है।

19 जिलों में अलर्ट 
पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, सीवान, सारण, छपरा, सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, सहरसा और मधेपुरा में अलर्ट जारी किया गया। इन जिलों में 70 किमी की रफ्तार से आंधी-पानी के साथ ओलावृष्टि हो सकती है।

अन्य 19 जिलों भी आंधी-पानी के आसार
बिहार के उत्तर-पश्चिमी इलाकों से सटे नेपाल के हिस्से में मजबूत सिस्टम बन रहा है। इस सिस्टम का असर सूबे के कई जिलों पर पड़ने के आसार हैं। बक्सर, भोजपुर, रोहतास, भभुआ, औरंगाबाद, जहानाबाद, पटना, गया, नालंदा, शेखपुरा, बेगूसराय, लखीसराय, नवादा, कटिहार, भागलपुर, बांका, मुंगेर, खगड़िया, जमुई में रेड अलर्ट नहीं जारी किया गया है। लेकिन, यहां आंधी-पानी की संभावना है। 

पटना में चार डिग्री गिरा अधिकतम तापमान
तीन दिनों तक भीषण गर्मी झेलने के बाद पटना समेत पूरे राज्य के लोगों को मंगलवार को थोड़ी राहत मिली है। मंगलवार को राजधानी का अधिकतम तापमान सोमवार के मुकाबले चार डिग्री नीचे गिरकर 37.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। सुबह से दोपहर 12 बजे तक चली पुरवा के कारण पटना में आर्द्रता 70 फीसदी तक पहुंच गयी। पटना के अलावा गया का भी दिन का तापमान तीन डिग्री नीचे गिरकर 39.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। 

क्यों हुआ ऐसा 
पश्चिमी विक्षोभ के कारण नेपाल से सटे उत्तरी इलाकों में ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ था। इधर बिहार में दो दिन से धरती तप रही थी। अचानक नमी बढ़ने के कारण तेजी से बादल बने। ऊपरी लेयर में चल रही पश्चिमी हवा और नीचे चल रही पूर्वी हवा आपस में मिल गई। इस कारण तूफान की स्थिति बनी। उधर राजस्थान और उसके आसपास के इलाकों में पहले से ही ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ था। वहीं उत्तरी बिहार से मिजोरम तक बने ट्रफ लाइन के कारण एक साथ कई सिस्टम मिल गए। मौसम विज्ञान केंद्र पटना के उपनिदेशक आनंद शंकर ने बताया कि मार्च से अप्रैल के बीच बिहार में काल वैशाखी के हालात बनते ही हैं। 

loading...

Check Also

अंपायर पर भड़क उठे जडेजा-रायुडू : नोबॉल विवाद

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें सीजन में अंपायरों को लेकर कई विवाद हो चुके ...