Breaking News

…तो ऐसे दिखते हैं एलियंस के वंशज, हैरान कर देगा इस शख्स का दावा

जब कभी यह बात होती है एलियंस कैसे होते हैं और ये कहां से आते हैं तो इसका जवाब नहीं मिलता। हालांकि बहुत से लोग ये दावा करते हैं कि उन्हें इन सवालों का जवाब मालूम है। लेकिन इन पर आम लोग विश्वास नहीं करते।  
इसलिए ये भी किसी फिल्मी कहानी की तरह लग सकता है। लेकिन ये हकीकत है कि यरुशलम में रहने वाले कुछ लोगों का मानना है कि दुनिया में जितने लोग हैं वो सभी एलिंयस के वंशज है। पेशे से एक मोटर साइकिल जर्नलिस्ट रह चुके क्लोड वॉरिलॉन का दावा है कि वो साल 1974 में एलियंस से मिल चुके हैं। 

इसके बाद क्लोड को ये विश्वास हो गया कि सभी लोग एलियंस के ही वंशज हैं। उनकी इस बात पर विश्वास करने वाले जितने भी लोग हैं, उन लोगों ने क्लोड की मान्यता से खुद को जोड़ लिया है और अपने आप को ‘रेलियंस’ कहते हैं।

इलोहिम को मानते हैं अपना भगवान

रेलियंस ये मानते हैं कि पूरी इंसानों की प्रजाति एलियंस के सबसे पहले वंशज इलोहिम से पैदा हुए हैं। उनके हिसाब से इलोहिम उनके भगवान हैं और उनके स्वागत के लिए उन्हें हमेशा तैयार रहना चाहिए।

क्लोड ऐसे लोग जो उनकी बात मानते हैं उन्हें रेलियन नाम के धर्म में शामलि कर लेते हैं। यही नहीं उन्होंने तो इलोहिम के लिए कुछ बेहद खास भी किया है।

बना लिया एक्स्ट्राटेरेस्ट्रियल एंबेसी
क्लोड वॉरिलॉन को एलियंस पर इतना विश्वास है कि उनके स्वागत के लिए उसने एक खास तरह के भवन का निर्माण भी किया है।  इस भवन का नाम उसने एक्स्ट्राटेरेस्ट्रियल एंबेसी रखा है। ये भवन जेरूसलेम में बनाई गई है।

उसने एलियंस के यान की तरह ही एक मॉक स्पेसशिप भी बनाई है। वो अक्यर इस एंबेसी में बैठकर लोगों से बात करते हैं और उन्हें एलियंस के होने और उनसे जुड़ी अपनी यादें ताजा करते हैं।

loading...
loading...