Breaking News

टेंट सिटी में प्रीति ने बेटी को दिया जन्म, जानिए क्यों परिजनों ने नाम रखा कंगना कौर

पटना. कंगन घाट टेंट सिटी में रविवार की रात को एक बच्ची ने जन्म लिया। इस बच्ची का परिजनों ने नाम ने भी कंगना कौर रख दिया है। बच्ची की किलकारियों को सुनकर टेट के पास आए संगतों ने परिजनों को बधाई दी और फिर उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है। टेंट सिटी में प्रीति ने दिया बच्ची को जन्म…
रविवार को कंगन घाट टेंट सिटी में रह रहे सिख श्रद्धालु जब अपनी नींद में थे उसी समय पास के ही एक टेंट से बच्ची की किलकारी की आवाज आनी शुरू हो गयी। बच्ची की किलकारी की आवाज सुनकर जब लोग टेंट के पास पहुंचे तो पता चला कि एक नन्ही बच्ची ने जन्म लिया है। श्रद्धालुओं ने जच्चा व बच्चा दोनों को टेंट सिटी में बने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में उपचार के लिए लाया। जहां से एम्बूलेंस के जरिए गुरुगोविंद सिंह अस्पताल भेजा गया। जहां डॉ. एके पंसारी की यूनिट में उसे भर्ती कराया गया
मां और बच्चे के इलाज में जूटे डाक्टर
कंगना टेंट सिटी में जन्मी बच्ची और उसकी मां प्रीति को इलाज के लिए टेंट सिटी से रविवार को ही गुरुगोविंद सिंह अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां पर गायनी डॉक्टर प्रेमलता वर्मा ने प्रसूति महिला प्रीति के स्वास्थ्य की जांच की। नवजात बच्ची को पेडियाट्रिक्स के डॉक्टर अरविंद कुमार ने जांच कर उसे संक्रमण से बचने के लिए पहली टीका भी लगाया।
इससे पहले नवजात के जन्म की सूचना मिलते ही अस्पताल अधीक्षक डॉ. मुकेश कुमार ने बच्ची के लिए कपड़े मंगवाये लोगों के बीच लड्डू भी बांटे। अधीक्षक ने बताया कि उत्तरप्रदेश के बिजनौर जिले के पांडली मांडू की रहनेवाली प्रीति प्रेम सिंह भाटिया की यह पहली संतान है
किसीन की बेटी है कंगना कौर
टेंट सिटी में जन्मी कंगना कौर के पिता परमजीत सिंह पेशे से किसान हैं। परमजीत ने बच्ची के जन्म को लेकर काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि गुरुजी महाराज के प्रकाश पर्व पर शामिल होने कंगन घाट टेंट सिटी में ठहरे थे। तभी हमारी पत्नी ने नन्ही को जन्म दिया है। इस कारण ही हमने अपनी बच्ची का नाम भी कंगना कौर रखा है।
मेरी ये बेटी गुरुजी का आशीष है। नन्हें मेहमान के टेंट सिटी में आने पर भांगड़े की तर्ज पर थिरकते हुए श्रद्धालुओं ने एक दूसरे को मुंह मीठा कराया। श्रद्धालुओं का कहना था कि गुरुजी के पावन प्रकाश पर्व पर जन्मी बच्ची भी अपना और माता-पिता का नाम रौशन करेगी।
loading...
loading...