Breaking News

‘जिंदा बचने के सिर्फ 30 फीसदी चांस थे’ : सोनाली बेंद्रे

सोनाली बेंद्रे कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के खिलाफ जंग जीत चुकी है। लेकिन जब बीते साल जुलाई में सोनाली बेंद्रे ने अपने कैंसर की खबर के बारे में बताया था तब फैंस को बड़ा झटका लगा था। लेकिन उन्होंने उन्होंने मुश्किल वक्त में भी हिम्मत नहीं हारी और हर कठिनाई का डटकर सामना किया।

हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान सोनाली ने बताया कि उन्हें स्टेज 4 मेटास्टेटिक कैंसर था। उन्होंने यह भी बताया कि उन्हें न्यू यॉर्क ले जाने का आइडिया उनके पति गोल्डी बहल का था। हालांकि उन्हें न्यू यॉर्क में उन्हें पता चला कि उनके बचने के चांस सिर्फ 30 फीसदी हैं।

सोनाली जब कैंसर का इलाज करवाकर न्यूयॉर्क से भारत वापस लौटी थी, तब फैन्स की खुशी का ठिकाना नहीं था। अब सोनाली बेंद्रे ने इस बारे में बात करते हुए कहा है कि मैं न्यूयॉर्क नहीं जाना चाहती थी। मेरे हस्बैंड मुझे लेजाना चाहते थे। मैं फ्लाइट में सारे समय बस उनसे लड़ती रही। मैंने उनसे कहा कि, ‘तुम ऐसा क्यों कर रहे हो।

सोनाली ने बताया कि वह पति से कहती हैं कि भारत में भी अच्छे डॉक्टर्स हैं। तुम मुझे यहां से दूर क्यों ले जा रहे हो?’ तीन दिन में हम न्यूयॉर्क के लिए रवाना हो गए। मुझे नहीं पता था कि क्या हो रहा है। मेरा मानना था कि चलो डॉक्टर्स से एक बार बात कर लेते हैं और मेरे पति बस चुप थे। मैं बस उन्हें परेशान करती रही।

उन्होंने बताया कि वहां पहुंचकर जब उन्होंने डॉक्टर्स को रिपोर्ट्स दिखाईं तो उन्हें बताया गया कि उन्हें चौथे स्टेज का कैंसर है और बचने की उम्मीद सिर्फ 30 फीसदी है। (फोटो इंस्टग्राम)

उस वक्त सोनाली हक्की-बक्की रह गईं और उन्होंने अपने पति की तरफ मुड़कर कहा कि अच्छा हुआ उन्हें यहां ले आए। सोनाली बताती हैं कि हमें नहीं बताया गया था कि यह चौथी स्टेज का कैंसर है लेकिन गोल्डी ने इस बारे में पढ़ना शुरू कर दिया था। उन्हें शक था इसीलिए उन्होंने चांस नहीं लिया।

loading...
loading...

Check Also

आज-कल में हो सकती है आप-कांग्रेस के बीच गठबंधन की घोषणा !

लोकसभा चुनाव करीब है, लेकिन प्रदेश कांग्रेस पार्टी की तमाम गतिविधियां इन दिनों थम गई ...