Breaking News

एक्सप्रेस वे धंसने पर मुख्यमंत्री योगी ने दिए जांच के आदेश, 15 दिन में देनी होगी रिपोर्ट

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे के धंसने की जांच रेल इंडिया टेक्निकल एंड इकोनोमिक सर्विस (राइट्स) करेगी। मंगलवार देर रात एक्सप्रेस-वे पर सड़क धंसने से हुए हादसे के बाद उत्तर प्रदेश एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) ने राइट्स को जांच के लिए पत्र लिखा है।

जबकि राज्य सरकार ने वर्ष 2017 में लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे निर्माण की जांच राइट्स से ही कराई थी। उस वक्त राइट्स की टीम ने एक्सप्रेस-वे के निर्माण को मानकों के अनुसार बताया था।

बता दें, पिछले तीन दिन से लगातार हो रही बारिश से मंगलवार देर रात लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर आगरा से 16.3 किमी पर स्थित सर्विस रोड करीब 15 से 20 मीटर तक कट गई और वहां 10-20 फीट गहरा गड्ढा हो गया। मुंबई से कन्नौज आ रहे एक परिवार की कार इस गड्ढे में गिर गई थी। उधर, आगरा से एक्सप्रेस-वे पर प्रवेश करने के लूप लाइन में भी सड़क धंस गई है। इसके अतिरिक्त कई और जगहों पर सड़कें क्षतिग्रस्त हुई है।

राज्य सरकार ने दो साल पुराने एक्सप्रेस-वे पर सड़कें धंसने की घटना को गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसकी जांच के आदेश दिए हैं।

15 दिन में यूपीडा देगी रिपोर्ट

यूपीडा के सीईओ अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि राइट्स आगरा-फिरोजाबाद पैकेज 1 के 55 किलोमीटर हिस्से के साथ पूरे एक्सप्रेस-वे पर जहां भी आवश्यकता होगी, जांच कर 15 दिन में यूपीडा को रिपोर्ट देगी। उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस-वे के पैकेज वन में जहां भी सड़कें धंसी हैं, उसका पुनर्निर्माण पीएनसी कंस्ट्रक्शन को ही करना होगा।

देर रात तक हो रही थी पेट्रोलिंग
यूपीडा के अधिकारियों का कहना है कि बरसात के दौरान एक्सप्रेस-वे पर लगातार पेट्रोलिंग की जा रही है। मंगलवार रात 11.30 बजे पेट्रोलिंग टीम लौटी थी, तब तक सड़क ठीक थी। देर रात हादसा होने की सूचना मिलते ही राहत कार्य शुरू किया गया।

loading...
loading...