आपके दिल को छू जाएगी ‘जीरो’ के अधूरेपन की प्रेम कहानी

शाहरुख खान, अनुष्का शर्मा और कैटरीना कैफ की मोस्ट अवेटेड फिल्म ज़ीरो आखिरकार रिलीज हो रही है। फिल्म को आनंद एल राय ने निर्देशित किया है। ज़ीरो की कहानी  बउआ सिंह (शाहरुख खान) के इर्दगिर्द घूमती है। बउआ सिंह एक ऐसा किरदार है, जिसे आप नफरत भरा प्यार करेंगे। भले ही आपको बउआ सिंह की बातें या हरकतें पसंद न आए लेकिन उसके किरदार को प्यार किए बिना नहीं रह पाएंगे।

फिल्म की कहानी की शुरुआत मेरठ के दौलतमंद से होती है जहां बौना बउवा (शाहरुख़ खान) अपने पिता (तिग्मांशु धुलिया) और पूरे ज़माने से खूब नफ़रत करता है। क्योंकि हर कोई उसका मज़ाक उड़ाता है। 38 साल की उम्र में भी बउवा की शादी नहीं होती, पर उसकी ख्वाहिश होती है कि वो फिल्म एक्ट्रेस बबीता कुमार (कैटरीना कैफ) से शादी करे। इसी बीच उसकी मुलाकात लकवा पीड़ित आफ़िया (अनुष्का शर्मा) से होती है। आदत के मुताबिक़, बउवा आफिया दिल तोड़कर बबीता के पास चला जाता है। बउआ और आफिया दोनों अपने अधूरेपन के साथ एक होने जा रहे होते हैं। लेकिन उसी वक्त कहानी में ट्विस्ट आता है। सुपरस्टार बबीता कुमारी से बउआ सिंह का अंजाने में आमना सामना होता है और नशे में धुत्त बबीता बउआ के होठों को चूम लेती है।

बउआ अपने शारीरिक तौर पर अधूरेपन से गुजर रहे होते हैं। इस रोल में शाहरुख़ खान एक दम फिट नजर आ रहे हैं। शाहरुख खान ने चुनौती को मात देते हुए उन्होंने इस किरदार को शानदार तरीके से निभाया है। अनुष्का शर्मा ने भी एक बेहतरीन किरदार निभाया है। जो फैंस के दिलो में छाप छोड़ने के लिए काफी है। कटरीना कैफ की भूमिका छोटी है, लेकिन ये उन्होंने शिद्दत से निभाई है। मोहम्मद ज़ीशान का किरदार भी याद रहता है।

फिल्म में अभिनय और डायलॉग्स प्रभावशाली हैं। लेकिन फिल्म की पटकथा थोड़ी कमजोर है, जो खासकर फिल्म के सेकेंड हॉफ को सुस्त बनाती है और फर्स्ट हॉफ से बने इमोशनल कनेक्ट को भी डगमगा देती है। लेकिन फिल्म के गाने आपको काफी पसंद आएंगे। आनंद एल राय ने अपने बेजोड़ निर्देशन से फिल्म को शानदार बना दिया है। मनु आनंद का छायांकन कमाल का है।

loading...

Check Also

अंपायर पर भड़क उठे जडेजा-रायुडू : नोबॉल विवाद

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें सीजन में अंपायरों को लेकर कई विवाद हो चुके ...