Breaking News

आखिर क्यों टेंशन में रहती हैं दिल्ली की लड़कियां और फिर…..

राजधानी दिल्ली पूरे देश और दुनिया में अपनी सांस्कृतिक धरोहर के लिए जितनी मशहूर है उतनी ही लगातार बढ़ते क्राइम रेट को लेकर भी दिल्ली हमेशा सुर्खियों में रहती है. खासतौर पर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर दिल्ली शहर के लिए तमाम तरह की बातें की जाती हैं.

2016 में लोगों की ऐसी शर्मनाक हरकतों के कारण सोशल मीडिया पर छाया रहा चीन

नए साल की रात बंगलुरु में हुई सामूहिक छेड़छाड़ की गूंज राजधानी दिल्ली में भी सुनी जा सकती है. एक के बाद एक हुई छेड़छाड़ की घटना से दिल्ली की लड़कियां सहमी हुईं हैं. डीयू के एक कॉलेज की छात्रा उमेमा ने कहा कि इस बार नए साल के मौके पर मैं घर पर ही थी, क्योंकि मेरा कोई भी मेल फ्रेंड दिल्ली में नहीं था जिसकी वजह से मेरा बाहर जाने का कोई प्लान नहीं बना. साथ में अगर कोई मेल फ्रेंड होता है तो सेफ्टी के लिहाज से बाहर जाना थोड़ा आसान हो जाता है. अब आप खुद ही सोचिए जब बंगलुरु जैसे शहर में ऐसी घटना हो सकती है तो दिल्ली को पहले से ही क्राइम कैप्टिल कहा जाता है.

महिला सुरक्षा को लेकर हमेशा से ही तमाम तरह की बातें की जाती हैं. तमाम तरह के दावे किए जाते हैं, कई तरह की पहल की जाती है लेकिन देश में कहीं भी इस तरह की घटना महिलाओं की सुरक्षा पर सवालिया निशान उठा देती है. खासतौर से दिल्ली की लड़कियों में अपनी सुरक्षा को लेकर अभी भी डर बैठा हुआ है.

कॉरपोरेट प्रोफेशनल दिव्या आज भी अपने साथ हुई एक घटना को सोच कर सहम जाती हैं. दिव्या ने बताया कि बंगलुरु में जो हुआ वो वाकई शर्मनाक है. ये तो रात की घटना थी मेरे साथ दिल्ली में दिनदहाड़े एक ऑटो वाले ने मुझे मॉलेस्ट करने की कोशिश की थी. हम लड़कियों को हर जगह हर मोड़ पर सावधान रहने की जरुरत है. सेफ्टी एप और पैपर स्प्रे जैसी चीजों को हमेशा तैयार रखना चाहिए.

वहीं एक और कॉलेज छात्रा प्रीति ने बताया कि लड़कियों को भी एंजॉय करने का उतना ही हक है जितना की लड़कों को. लेकिन हमें कहीं भी जाने के लिए पार्टी करने के लिए 10 बार सोचना पड़ता है. अपनी सुरक्षा के बारे में हमें खुद ही सोचना पड़ता है जिसके लिए आप किसी के उपर निर्भर नहीं रह सकते.

बंगलुरु में हुई घटना से वाकई दिल्ली की लड़कियों में सुरक्षा को लेकर डर की भावना और ज्यादा बढ़ गई है.

loading...
loading...