Breaking News

आखिरी भाषण में रो पड़े ओबामा, लोगों ने किया समर्थन…

अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर बराक ओबामा ने शिकागो में अपना आखिरी भाषण दिया। अपनी फेयरवेल स्पीच में ओबामा ने कहा कि मिशेल और मुझे पिछले कुछ हफ्तों से शुभकामनाएं मिल रही हैं। आज मैं उन सभी का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। ओबामा का कार्यकाल 20 जनवरी को खत्म हो रहा है। ओबामा ने बिना नाम लिए अमेरिका के अगले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नीतियों पर भी निशाना साधा और लोगों से सहिष्णु बनने के साथ ही नस्लवाद को बढ़ावा न देने की अपील की।

अभी-अभी : मिस्त्र आंतकी हमले में 10 पुलिसकर्मियों की मौत, 22 गंभीर रुप से घायलआखिरी भाषण में रो पड़े ओबामा, लोगों ने किया समर्थन...

बराक ओबामा की नम हुईं आंखें

मिशेल ओबामा और अपनी बेटियों का शुक्रिया अदा करते वक्त ओबामा की आंखों से आंसू छलक पड़े। अपने आखिरी भाषण में ओबामा ने पत्नी मिशेल और बेटियों का जिक्र किया तो वह रो पड़े। ओबामा ने कहा, ‘बीते 25 सालों से तुम सिर्फ मेरी बीवी और मेरे बच्चों की मां नहीं बल्कि मेरी बेस्ट फ्रेंड बनी। तुमने मुझे गर्व महसूस कराया तुमने देश को गर्व महसूस कराया।’ मालिया और साशा का जिक्र करते हुए ओबामा ने कहा, ‘ मैंने जिंदगी में जो भी किया लेकिन सबसे ज्यादा गर्व तुम दोनों के पिता होने का है।’

मुस्लिमों के खिलाफ भेदभाव स्वीकार नहीं

ओबामा ने कहा कि पिछले 8 सालों में एक भी आतंकी हमला नहीं हुआ। हालांकि उन्होंने कहा कि बोस्टन और ऑरलैंडों हमें याद दिलाते हैं कि कट्टरता कितनी खतरनाक हो सकती है। हमारी एजेंसियां पहले से कहीं अधिका प्रभावी हैं। उन्होंने कहा कि आईएसआईएस खत्म होगा। अमेरिका के लिए जो भी खतरा पैदा करेगा, वो सुरक्षित नहीं होगा। उन्होंने कहा कि ओसामा बिन लादेन समेत हजारों आतंकियों को हमने मार गिराया है। अपनी स्पीच में ओबामा ने कहा कि मैं मुस्लिम अमेरिकियों के खिलाफ भेदभाव को अस्वीकार करता हूं। मुस्लिम भी उतने ही देशभक्त हैं, जितने की हम।